Thursday, 25 May 2017

/.. परसों से भारतीय वायुसेना का लड़ाकू जेट विमान सुखोई-३० लापता है ..
और बरसों से मोदी का विकास और विश्वास भी लापता ही है ..

और इसलिए इस देश में सुखोई तो कोई ना !! सब दुखोई-दुखोई लागे है .. ..
कोई एक साल का दुखोई-१ ..
तो कोई दो साल का दुखोई-२ ..
तो कोई तीन साल का दुखोई-३ .. ../

मेरे दिमाग की बातें - दिल से .. ब्रह्म प्रकाश दुआ
/.. अभी-अभी समाचार आया है कि एक हेलीकाप्टर जिसमें मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस उनके मित्र एवं अन्य बहुमूल्य नेता आदि भी थे - वो लातूर में उड़ते ही धड़ाम से नीचे बैठ गया .. तस्वीरों से दिख रहा है कि सफ़ेद हेलीकाप्टर बहुत ही धड़ाम से गिरा होगा जिसके कारण धरती में गड्ढा कर धंस सा गया और अच्छा ख़ासा क्षतिग्रस्त भी हो गया .. .. और लगता है कि हेलीकाप्टर बहुत पुराना नहीं होगा और यकीनन बहुत महंगा होगा .. या बहुत महंगा ही पड़ा होगा .. ..
और हाँ एक बात और .. ईश्वर की दया से हेलीकाप्टर किसी घर या व्यक्ति के ऊपर नहीं गिरा और कोई जनहानि नहीं हुई .. ..
जांच तो बैठेगी - अब देखें क्या आंकलन आता है - देश ने क्या खोया - कितने रुपयों की अपूरणीय क्षति हुई .. और आखिर क्या और कितने का बच गया .. .. है ना !! .. ../

मेरे दिमाग की बातें - दिल से .. ब्रह्म प्रकाश दुआ
/.. सोनू निगम ने ट्विटर छोड़ा वो तो ठीक है - पर जाते-जाते सभी 'समझदार व विवेकशील अन्य देशभक्तों' से अपील भी कर गए कि वो भी ऐसा ही करें .. ..
मुझे लगता है कि पूरा देश उनकी बात को अनसुना कर रहा है - पर यदि भक्त और मोदी 'समझदार व विवेकशील अन्य देशभक्तों' की श्रेणी में फिट बैठ जाते हों और वो सोनू की अपील मान लें फिर तो मज़ा आ जाएगा .. मीडिया के बिकाऊ टीवी चैनल्स पर ना सही कम से कम सोशल मीडिया पर तो प्रदूषण कम हो जाएगा ..../

मेरे दिमाग की बातें - दिल से .. ब्रह्म प्रकाश दुआ
/.. बहुत डींगे मार रहे थे कि ९० सेकंड में ईवीएम टैम्पर कर के दिखा देंगे .. ..
वो ३० सेकंड का वीडिओ तो देखे होंगे ना - धाँय-धाँय-धाँय .. मोदी ने तो पाकिस्तान को ३० सेकंड में टैम्पर करके दिखा दिया .. .. नहीं क्या ?? ..../

मेरे दिमाग की बातें - दिल से .. ब्रह्म प्रकाश दुआ

Wednesday, 24 May 2017

// सर्जिकल स्ट्राइक एक बार फिर - पर इस बार 'धमाके' जैसा कुछ नहीं हुआ .. क्यों ?? ..//


सर्जिकल स्ट्राइक !! .. क्या धमाका हुआ था याद दिलाने की आवश्यकता नहीं .. और धमाका उधर भी हुआ था इधर भी .. उधर इसलिए क्योंकि धमाका उधर ही किया गया था - और इधर इसलिए हो गया था कि इधर उधर किधर भी सबूत मांग लिए गए थे .. ..

सर्जिकल स्ट्राइक फिर कर दी गई है .. और इस बार एक वीडिओ के रूप में सबूत सामने रखने के साथ ही धमाके की उद्घोषणा की गई है .. और सबूतों का प्रस्तुतीकरण पहली बार किया गया बताया जा रहा है .. ..

पर इस बार कुछ धमाके जैसा नहीं हुआ .. ना ही भक्त उत्साहित दिखे ना ही सबूतों पर कोई बात हुई .. और इसलिए मैं थोड़ा विचलित हूँ .. ..

विचलित इसलिए भी कि बात मुहंतोड़ जवाब की हुई थी .. मुंहतोड़ जवाब की अपेक्षा भी थी .. और जवाब दिया भी गया है .. पर मुंह टूटा कि नहीं कुछ पता नहीं चल रहा .. और शंका तो इसलिए भी हो रही है कि मुंह नहीं टूटा होगा क्योंकि भक्तों के मुंह भी नहीं चल रहे हैं .. ..

इसलिए मैं तो अपेक्षा रखूंगा कि राष्ट्रहित में सबसे पहले तो भक्त अपना मुंह चलाना जारी रखें कि - दे दिया भई दे दिया मुंहतोड़ जवाब दे दिया .. और सेना लगातार जवाब देते हुए दुश्मन का मुंह ही नहीं कमर भी तोड़ कर रख दे .. और हम सभी अपनी सक्षम वीर सेना का साथ दें .. और हमारे नेता फ़ोकट बयानबाज़ी बंद कर दें .. ..!! जय हिन्द !!

मेरे 'fb page' का लिंक .. https://www.facebook.com/bpdua2016/?ref=hl

/.. 'अवार्ड वापसी' के बाद - अब 'ट्विटर वापसी' !! .. ..

और इसलिए लगता है कि अब इनकी 'घर वापसी' मुकम्मल हो कर रहेगी .. ..
वैसे क्या कोई भक्त बता सकेगा कि ट्विटर निषेधित अभिजीत और ट्विटर छोड़ू सोनू निगम में बड़ा चीं-चैं-चूँ करने वाला कौन ?? .. ..
और परेश रावल और अभिजीत में बड़ेवाला भक्त कौन ?? .. ..
और राष्ट्रपति पद के लिए अनुपम खेर के बाद परेश रावल अभिजीत और सोनू निगम में सबसे उपयुक्त नाकाबिल कौन ?? .. ..
और क्या 'अवार्ड वापसी' का उपहास करने वालों को 'ट्विटर वापसी' कपड़े फाड़ने पर मजबूर नहीं कर देगी ?? .. ../

मेरे दिमाग की बातें - दिल से .. ब्रह्म प्रकाश दुआ

// उधर आग बुझी - और इधर सुलग गई .. क्योंकि 'आप' में अद्भुत क्षमता जो है ....//


'आप' पार्टी की एक महिला विधायक अलका लाम्बा अपने कार्यक्षेत्र में भीषण आग लगने पर रात के ३ बजे भी दुर्घटना स्थल पर पहुँच जाती हैं - और वो वहां पहुँच वही अपेक्षित करती हैं जो ऐसे मौकों पर अनन्य अच्छे नेता अपने कर्तव्यों के निर्वहन हेतु या अपनी छवि चमकाने हेतु सदियों से करते आए हैं .. और अपेक्षा के अनुसार ही आग बुझाने वालों द्वारा आग बुझा ली जाती है .. और अपेक्षा अनुसार अलका लाम्बा प्रसन्नता का इज़हार करने के लिए सबसे सरल और तैयार तरीका अपनाते हुए हाथ की २ उँगलियों से 'V' का विक्ट्री साईन बना देती हैं .. सब कुछ लगभग अपेक्षा के अनुसार .. ..

और फिर उसके बाद भी अपेक्षा के अनुसार ही भक्तो की सुलग पड़ती है .. और कुछ जले पत्रकारों के दिल पिछवाड़े तो लपटीय आग ही लग जाती है .. और अपेक्षा के अनुसार ही दूसरे दिन पूरा मोदिया अलका लाम्बा के किये को नकारात्मकता के साथ दिखाने का भरपूर प्रयास करता रहता है .. पर असफल रहता है .. और अपेक्षा के अनुसार ही अलका लाम्बा को फ़ोकट में अच्छी खासी फुटेज मिल जाती है - और भक्तों की सुलगती रह जाती है .. ..

इसलिए कहता हूँ कि 'आप' में बहुत ताकत है .. 'आप' की एक नेता जब अपनी उपस्थिति में रात के ३ बजे आग बुझाने का काम संपन्न करवा देती हैं तो भक्तों की स्वतः ही सुलग पड़ती है .. यानि उधर आग बुझी - और इधर सुलग गई !! .. ..है ना !! .. ..

और यकीन मानें ऐसा होना भी अपेक्षित ही है .. क्योंकि 'आप' में 'अनअपेक्षित' करने की अद्भुत क्षमता जो है .. हा !! हा !! हा !! .. !! जय हिन्द !! .. ..

मेरे 'fb page' का लिंक .. https://www.facebook.com/bpdua2016/?ref=hl